संज्ञा किसे कहते हैं तथा संज्ञा के भेद, प्रकार, उदाहरण सहित

  Noun – संज्ञा ( Sangya in Hindi)

संज्ञा – परिभाषा, भेद ,प्रकार और उदाहरण सहित

परिभाषा – किसी व्यक्ति, वस्तु ,नाम आदि के गुण,धर्म व स्वभाव आदि का बोध कराने वाले शब्द संज्ञा कहलाते हैं ।

संज्ञा के प्रकार – ( Sangya ke Prakar)

संज्ञा के 5 भेद होते हैं जो निम्न प्रकार है –

sangya in Hindi
sangya in Hindi

sangya ke kitne bhed hote hain

1. व्यक्तिवाचक संज्ञा
2. जातिवाचक संज्ञा
3. भाववाचक संज्ञा
4. समुदायवाचक संज्ञा
5. द्रव्यवाचक संज्ञा

(1) व्यक्तिवाचक संज्ञा

जिस शब्द से किसी विशेष व्यक्ति, स्थान, अथवा वस्तु का बोध हो ,वह व्यक्तिवाचक संज्ञा कहलाता है । जैसे :-

(१) व्यक्तियों के नाम –

जितेंद्र ,अनु, गुंजन, मंजू ,ताराचंद, मनु ,सीनू, रणजीत ,पार्वती ,अमित, कृष्ण, परमानंद, विक्रम, अभिमन्यु ,गिरधर ,ताजमहल ,उम्मेद महल आदि ।

उदाहरण –
गीता पढ़ती है ।
यह लाल किला है ।

इन वाक्यों में गीता व लाल किला व्यक्तिवाचक संज्ञाएँ हैं ।

(२) दिशाओं के नाम –

उत्तर, दक्षिण, पूर्व, पश्चिम आदि ।

उदाहरण – राजस्थान की सीमा पश्चिम में पाकिस्तान से लगी हुई है ।

(३) देशों के नाम –

अमेरिका ,भारत, पाकिस्तान, भूटान, नेपाल आदि ।

उदाहरण – अमेरिका ने भारत के साथ परमाणु ऊर्जा के संबंध में द्विपक्षीय समझौता किया ।

(४) पहाड़ों के नाम –

माउंट एवरेस्ट ,हिमालय ,नीलगिरी आदि ।

उदाहरण – अरावली की सबसे ऊँची चोटी गुरु शिखर है ।

(५) समुद्रों के नाम –

हिंद, प्रशांत, भूमध्य महासागर आदि ।

उदाहरण- प्रशांत महासागर सबसे गहरा है ।

(६) दिनों एवं महीनों के नाम –

सोमवार, मंगलवार, अगस्त, अक्टूबर, श्रावण, भाद्रपद आदि ।

उदाहरण – कार्तिक पूर्णिमा को पुष्कर मेले का आयोजन होता है ।

(७) पुस्तकों एवं समाचार पत्रों के नाम –

महाभारत ,गीतांजलि, दैनिक भास्कर, पंजाब केसरी आदि ।

उदाहरण- रामायण हिंदू धर्म का पवित्र ग्रंथ है ।

(८) त्योहारों एवं उत्सवों के नाम –

क्रिसमिस ,दीपावली ,स्वतंत्रता दिवस आदि ।

उदाहरण- स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को मनाया जाता है ।

(९) नगरों ,सड़कों ,चौकों के नाम –

प्रयाग, हजरतगंज, लाल चौक ,अशोक मार्ग आदि।

उदाहरण- एन.एच. 8 राजस्थान का सबसे व्यस्ततम राष्ट्रीय राजमार्ग है ।

(१०) ऐतिहासिक युद्धों के नाम –

पानीपत का युद्ध ,हल्दीघाटी का युद्ध आदि ।

उदाहरण – तराइन का युद्ध 1192 में पृथ्वीराज व गौरी के मध्य हुआ ।

(११) राष्ट्रीय जातियों के नाम –

पाकिस्तानी ,बांग्लादेशी, भूटानी आदि ।

उदाहरण – पाकिस्तानी घुसपैठियों की सीमा पार से आंतकवादी गतिविधियां जारी है ।

(१२) नदियों के नाम –

गोदावरी, सरस्वती, सिंधु, कृष्णा आदि ।

उदाहरण- गंगा को भारत की पवित्र नदी माना जाता है ।

(2) जातिवाचक संज्ञा

जिस संज्ञा शब्द से उसकी संपूर्ण जाति का बोध हो, वह जातिवाचक संज्ञा कहलाती है ।

(१) पशु- पक्षियों के नाम –

गधा ,हाथी, गौरिया, कौआ आदि।

उदाहरण –
तोते डाल पर बैठे हैं ।
माली पौधों को पानी दे रहा है ।

इन वाक्यों में तोते व माली शब्द अपनी संपूर्ण जाति का बोध कराते हैं ,अतः यह जातिवाचक संज्ञा है ।

(२) वस्तुओं के नाम –

पुस्तक, टेबल, कंप्यूटर, लैपटॉप आदि ।

उदाहरण- टेबल पर पेन रखा हुआ है ।

(३) प्राकृतिक आपदाओं के नाम –

आँधी, तूफान, ज्वालामुखी आदि ।

उदाहरण – सुनामी तूफान ने इंडोनेशिया, भारत, बांग्लादेश, मालदीव आदि देशों में काफी क्षति पहुँचायी ।

(४) सामाजिक संबंधों, पदों और कार्यों के नाम –

चोर ,कुम्हार, नेता, मूर्तिकार आदि ।

उदाहरण – नेताजी ने आजाद हिंद फौज का गठन किया ।

3. भाववाचक संज्ञा

जिस संज्ञा शब्द से पदार्थों की अवस्था, गुण- दोष, धर्म आदि का बोध हो ,उसे भाववाचक संज्ञा कहते हैं ।

उदाहरण –
आम में मिठास है ।
बुढ़ापा जीवन का अभिशाप है ।

इन वाक्यों में मिठास किसी वस्तु का गुण प्रकट कर रहा है व बुढ़ापा किसी व्यक्ति की विशेष अवस्था का बोध करा रहा है ।

4. समुदायवाचक संज्ञा

जिन संज्ञा शब्दों से व्यक्तियों, वस्तुओं आदि के समूह का बोध हो, उन्हें समुदायवाचक संज्ञा कहते हैं ।

(१) व्यक्तियों का समूह –

कक्षा ,भीड़,सभा आदि ।

उदाहरण – चौपाल में आज सभा हो रही है ।

(२) वस्तुओं का समूह –

गुच्छा, मंडल, झुण्ड आदि ।

उदाहरण – अंगूर का गुच्छा खट्टा है ।

5. द्रव्यवाचक संज्ञा

जिन संज्ञा शब्दों से किसी धातु, द्रव्य आदि पदार्थों का बोध हो ,उन्हें द्रव्यवाचक संज्ञा कहते हैं । जैसे-

तेल, चाँदी ,सोना, चावल, घी, गेहूं,पीतल, कोयला आदि ।

उदाहरण –
यह घी बहुत अच्छा है ।
ये आभूषण सोने के हैं ।

पहले वाक्य में घी द्रव्य का बोध करवाता है व दूसरे वाक्य में सोना धातु का बोध करवाता है, अतः ये द्रव्यवाचक संज्ञाएँ हैं ।

    Sangya In Hindi Notes 

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Scroll to Top