मनोविज्ञान – क्या, अर्थ ,उसके क्षेत्र । manovigyan ki paribhasha

Psychology in Hindi

 मनोविज्ञान (manovigyan)

Psychology in Hindi
Psychology in Hindi

🔸रूडोल्फ गोयकल‘Psychology’ शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग किया ।

🔸वाट्सन ➡ मनोविज्ञान को ‘व्यवहार का विज्ञान’ कहा ।

🔸प्लेटो, अरस्तू, गैरट, देसकारटस ➡ मनोविज्ञान को “आत्मा का विज्ञान” कहा ।

🔸विलियम वु्ट ,विलियम जेम्स
➡ मनोविज्ञान को “चेतना का विज्ञान” कहा ।
➡ इन्हें “प्रयोगात्मक मनोविज्ञान का जनक’ कहा जाता है ।

🔸पॉम्पोनाजी ➡ मनोविज्ञान को “मन का विज्ञान” कहा ।

🔸आउटलाइन साइकोलॉजी ➡ मैक्डूगल द्वारा लिखित पुस्तक

🔸रूसो ➡ शिक्षा में मनोवैज्ञानिक दृष्टिकोण का सूत्रपात किया ।

🔸पेस्टोलॉजी (स्विजरलैंड )➡ शिक्षा के वर्तमान स्वरूप में मनोवैज्ञानिक प्रवृत्ति के आधारभूत विकास का श्रेय उन्हें दिया जाता है ।

🔸मानव व्यवहार ➡ शिक्षा और मनोविज्ञान दोनों को आपस में जोड़ने वाली कडी़ ।

विभिन्न मनोवैज्ञानिक कौन से संबंधित देश

मनोवैज्ञानिक देशमनोवैज्ञानिक देश
विलियम हेनरी किलपैट्रिक यूएसएप्रो. नार्मन काउडर यूएसए
जेएम राइस यूएसएहेलन पार्क हर्स्ट यूएसए
फ्रेडरिक अॉगस्ट फ्रोबेल जर्मनीहेनरी काल्डवेल कुक ब्रिटेन
पेस्टोलॉजी स्विट्जरलैंडसुकरात यूनान
कार्ल्टन वाशबर्न इन यूएसएप्रो बी.एफ स्कीनर यूएसए
डॉ मारिया मोंटेसरी इटलीप्रो आर्मस्ट्रांग ब्रिटेन
लुई ब्रेल फ्रांसजैकाब एल मोरेनो ऑस्ट्रिया

Psychology in Hindi (मनोविज्ञान का अर्थ )

🔸गैरट के अनुसार ” Psychology” शब्द ( Psyche + logos) की उत्पत्ति लैटिन भाषा से हुई है । Psyche का अर्थ आत्मा तथा logos का अर्थ विज्ञान से है, अर्थात “आत्मा का विज्ञान”

🔸17 वीं शताब्दी में दार्शनिकों ने मनोविज्ञान को ‘मन’ या मस्तिक का विज्ञान कहा । इनमें पाम्पोनॉजी प्रमुख है ।

🔸मैक्डूगल – ‘आउटलाइन साइकोलॉजी’ में चेतना की आलोचना की ।
इनका कथन – (१)जीवित प्राणियों के व्यवहार का विधायक विज्ञान मनोविज्ञान है ।
(२) मनोविज्ञान आचरण एवं व्यवहार का विज्ञान है।

🔸कालसनिक – “मूल प्रवृत्तियों से उत्पन्न व्यवहार का अध्ययन ही मनोविज्ञान है ।”

🔸विलियम्स जेम्स – ” मनोविज्ञान चेतना की विभिन्न अवस्थाओं का वर्णन और व्याख्या करता है ।”

🔸वेबर – मनोविज्ञान का मात्रात्मक मापन संबंधी नियम का प्रतिपादन किया ।

🔸भाटिया – भारत में निष्पादन बुद्धि परीक्षण के जन्मदाता ।

🔸सिग्मड फ्रायड – “मनोविज्ञान अचेतन का विज्ञान है ।”

🔸जेवी वाटसन – “मनोविज्ञान व्यवहार का विज्ञान है।”

🔸क्रो एवं क्रो – ” मनोविज्ञान मानव व्यवहार और मानव संबंधों का अध्ययन है ।”

🔸जेम्स ड्रेवर – “मनोविज्ञान एक विधायक विज्ञान है जो मनुष्य एवं पशुओं के उस व्यवहार का अध्ययन करता है जो व्यवहार उसके अंतर्गत के मनोभावों और विचारों की अभिव्यक्ति करता है, जिसे हम मानसिक जगत् कहते हैं ।”

🔸जलोटा – ” मनोविज्ञान को मानसिक प्रतिक्रियाओं के अध्ययन के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जिसका शारीरिक व्यवहार में अनुभव किया जाता है अथवा प्रत्येक अभिव्यक्ति में निरीक्षण होता है ।”

🔸विलियम वुंट – 1879 ई. में “प्रयोगात्मक मनोविज्ञान” की प्रथम प्रयोगशाला स्थापित की ।

मनोविज्ञान के प्रमुख क्षेत्र

(1) सामान्य मनोविज्ञान
(2) असामान्य मनोविज्ञान
(3) बाल मनोविज्ञान
(4) किशोर मनोविज्ञान
(5) प्रौढ़ मनोविज्ञान
(6) वैयक्तिक मनोविज्ञान
(7) जननिक मनोविज्ञान
(8) विकासात्मक मनोविज्ञान
(9) विश्लेषणात्मक मनोविज्ञान
(10) प्रयोगात्मक मनोविज्ञान
(11) सामाजिक मनोविज्ञान
(12) व्यावहारिक मनोविज्ञान

इन्हें भी देखें- 

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Scroll to Top