भारतीय संविधान के विदेशी स्रोत

Bhartiya Samvidhan ke Videshi Srot

 भारतीय संविधान का सबसे बड़ा स्रोत 1935 का भारत शासन अधिनियम है । जिससे 200 से अधिक अनुच्छेद प्रभावित है ।

Bhartiya Samvidhan ke Videshi Srot
Bhartiya Samvidhan ke Videshi Srot

भारत शासन अधिनियम, 1935

(१) संघीय तंत्र
(२) राज्यपाल का कार्यालय
(३) न्यायपालिका
(४) लोक सेवा आयोग
(५) आपातकालीन उपबंध
(६) प्रशासनिक विवरण

Foreign sources of Indian Constitution in Hindi ( भारतीय संविधान के विदेशी स्रोत )

1. ब्रिटेन –

(१) संसदात्मक शासन प्रणाली
(२) एकल नागरिकता एवं विधि निर्माण प्रक्रिया
(३) मंत्रिमंडल प्रणाली
(४) परमाधिकार लेख
(५) संसदीय विशेषाधिकार
(६) द्विसदनीय व्यवस्था

2. संयुक्त राज्य अमेरिका –

(१) मौलिक अधिकार
(२) न्यायिक पुनरावलोकन
(३) संविधान की सर्वोच्चता
(४) न्यायपालिका की स्वतंत्रता
(५) निर्वाचित राष्ट्रपति एवं उस पर महाभियोग
(६) उपराष्ट्रपति
(७) उच्चतम एवं उच्च न्यायालय के न्यायाधीशों को हटाने की विधि
(८) वित्तीय आपात
(९) कानून का समान संरक्षण

3. आयरलैंड –

(१) नीति निर्देशक सिद्धांत
(२) राष्ट्रपति के निर्वाचक मंडल की व्यवस्था
(३) राष्ट्रपति द्वारा राज्यसभा में साहित्य, कला, विज्ञान व समाज सेवा इत्यादि के क्षेत्र में ख्यातिप्राप्त व्यक्तियों का नामांकन

4. कनाडा –

(१) संघात्मक विशेषताएं
(२) अवशिष्ट शक्तियां केंद्र के पास
(३) राज्यपाल की नियुक्ति विषयक प्रक्रिया
(४) संघ एवं राज्य के बीच शक्ति विभाजन
(५) उच्चतम न्यायालय का परामर्शी न्याय निर्णयन

5. ऑस्ट्रेलिया –

(१) प्रस्तावना की भाषा
(२) समवर्ती सूची का प्रावधान
(३) केंद्र एवं राज्य के बीच संबंध तथा शक्तियों का विभाजन
(४) संसदीय विशेषाधिकार
(५) संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक
(६) व्यापार, वाणिज्य और समागम की स्वतंत्रता

6. जर्मनी –

(१) आपातकाल के दौरान मूल अधिकारों का निलंबन

7. सोवियत संघ (रूस)-

(१) मौलिक कर्तव्यों का प्रावधान
(२) प्रस्तावना में न्याय ( सामाजिक, आर्थिक व राजनीतिक ) का आदर्श

8. फ्रांस –

(१) गणतंत्रात्मक और प्रस्तावना में स्वतंत्रता
(२) समता और बंधुता के आदर्श

9. दक्षिण अफ्रीका

(१) संविधान में संशोधन की प्रक्रिया
(२) राज्यसभा के सदस्यों का निर्वाचन

10. जापान –

(१) विधि द्वारा स्थापित प्रक्रिया

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Scroll to Top