भारत के महत्वपूर्ण सैन्य अभ्यास 2021 (December 2021)

आज हम करंट अफेयर्स में “Senya Abhyas List in Hindi 2021″ के बारे में बात करेंगे । जो आप के प्रत्येक एग्जाम में इनमें से एक दो प्रश्न जरूर पूछे जाते हैं ।

2021 के ऑपरेशन/ सैन्य अभियान/ अभ्यास/ मिशन

 

Senya Abhyas List in Hindi
Senya Abhyas List in Hindi

 Senya Abhyas List in Hindi 2021 ( Joint Military Exercise 2021 in Hindi)

एकुवेरिन अभ्यास ( EKUVERIN Exercise 2021)

  • भारत और मालदीव के बीच सैन्य अभ्यास ‘एकुवेरिन’ का 11 वां संस्करण 6 से 19 दिसंबर 2021 को मालदीव के कढधू द्वीप में आयोजित किया गया ।
  • यह अभ्यास दोनों देशों के सशस्त्र बलों के बीच जमीन और समुद्र दोनों पर अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के खतरे को समझने , आंतकवाद और आंतकवाद विरोधी अभियानों का संचालन करने और सर्वोत्तम सैन्य कार्यप्रणालियों और अनुभवों को साझा करने के मामले में तालमेल और अंतर-संचालन को बढ़ाएगा ।
  • एकुवेरिन का अर्थ – मालदीवियन भाषा में ‘मित्र’ होता है । यह अभ्यास वर्ष 2009 से भारत और मालदीव में बारी-बारी से आयोजित किया जा रहा है । इसका पिछला 10 वां संस्करण महाराष्ट्र के पुणे में आयोजित किया गया था ।

कोलंबो सुरक्षा सम्मेलन केंद्रित ऑपरेशन

  • भारत, मालदीव और श्रीलंका की प्रमुख समुद्री सुरक्षा एजेंसियों के मध्य पहला ‘कोलंबो सिक्योरिटी कॉन्क्लेव केंद्रीय ऑपरेशन ‘ का आयोजन 27 और 28 नवंबर 2021 को किया गया ।
  • हिंद महासागर क्षेत्र के दक्षिणी अरब सागर हिस्से को वाणिज्यिक नौवहन ,अंतर्राष्ट्रीय व्यापार और वैध समुद्री गतिविधियों के संचालन के लिए सुरक्षित रखने के उद्देश्य से ऑपरेशन आयोजित किया गया ।

इंडो- थाई कॉर्पेट 2021

  • भारतीय नौसेना और रॉयल थाई नौसेना के बीच भारत- थाईलैंड समन्वित गश्ती (इंडो- थाई कॉर्पेट) का 32 वाँ संस्करण 12 से 14 नवंबर 2021 तक आयोजित किया गया ।
  • भारतीय नौसेना के जहाज आईएनएस कर्मुक और थाईलैंड का जहाज टायनचोन ने इस समन्वित गश्ती में भाग लिया ।
  • यह तस्करी, अवैध अप्रवास की रोकथाम और समुद्र में खोज और बचाव संचालन के लिए सूचनाओं के आदान-प्रदान द्वारा अभियान के तालमेल को बढ़ाने में मदद करता है ।

भारत-फ्रांस संयुक्त सैन्य अभ्यास “शक्ति 2021”

  • भारत-फ्रांस संयुक्त सैन्य अभ्यास “शक्ति 2021” का छठा संस्करण 15 से 26 नवंबर 2021 को फ्रांस के फ्रेजस में आयोजित किया गया ।
  • गोरखा राइफल्स इन्फैक्ट्री बटालियन की एक प्लाटून ने इस द्विपक्षीय अभ्यास में भारतीय सेना का प्रतिनिधित्व किया , जबकि फ्रांसीसी पक्ष का प्रतिनिधित्व छठी लाइट आर्मर्ड बिग्रेड की “21वीं मरीन इन्फैक्ट्री रेजिमेंट के सैनिकों द्वारा किया गया ।
  • यह अभ्यास संयुक्त राष्ट्र के तहत् अर्द्ध-शहरी क्षेत्रों की पृष्ठभूमि में आंतकवाद विरोधी अभियानों पर ध्यान केंद्रित करता है ।

सिटमेक्स- 21 सैन्य अभ्यास

  • भारत, सिंगापुर और थाईलैंड की नौसेना ने 15 से 16 नवंबर 2021 को अंडमान सागर में त्रिपक्षीय समुद्री अभ्यास”सिटमेक्स-21″ (SITMEX-21)के तीसरे संस्करण में भाग लिया ।
  • भारतीय नौसेना के जहाज आईएनएस कर्मुक ने इस अभ्यास में भाग लिया, जो कि एक स्वदेश निर्मित मिसाइल कार्वेट है ।
  • इसका उद्देश्य आपसी अंतर-संचालन को बढ़ाने और सर्वोत्तम प्रथाओं को आत्मसात करने के उद्देश्य से वर्ष 2019 से ‘सीटमेक्स’ प्रतिवर्ष आयोजित किया जा रहा है ।

त्रिपक्षीय अभ्यास “दोस्ती”

  • भारत, मालदीव और श्रीलंका के बीच द्विवार्षिक त्रिपक्षीय तटरक्षक अभ्यास ‘दोस्ती’ के 15 वें संस्करण का आयोजन मालदीव में किया गया ।
  • यह पांच दिवसीय अभ्यास 20 से 24 नवंबर 2021 को आयोजित किया गया । इस अभ्यास ने अपने 30 वर्ष पूरे कर लिए ।
  • त्रिपक्षीय अभ्यास ‘दोस्ती’ का उद्देश्य दोस्ती को और मजबूत करना, आपसी परिचालन क्षमता को बढ़ाना और अंतर-संचालन का अभ्यास करना तथा मालदीव, भारत और श्रीलंका के तटरक्षकों के बीच सहयोग का निर्माण करना है ।

मालाबार युद्धाभ्यास का दूसरा चरण शुरू

  • बंगाल की खाड़ी में नौसेना का सबसे प्रसिद्ध मालाबार युद्धाभ्यास का दूसरा चरण 12 अक्टूबर से शुरू हो गया है । इसमें भारतीय नौसेना, जापान की जापान मैरिटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स , ऑस्ट्रेलिया की रॉयल ऑस्ट्रेलियन नेवी और अमेरिकी नेवी शामिल है ।
  • यह युद्धाभ्यास 12 से 15 अक्टूबर के बीच चलेगा । इस युद्धाभ्यास में नौसेनाओं की अग्रिम पंक्तियों के कई युद्धपोत एवं अन्य पोत करतब दिखाएंगे । अमेरिका ने अपने परमाणु सक्षम विमानवाहक पोत कार्ल विंसन को तैनात किया है ।
  • पहले चरण का युद्धाभ्यास 26 से 29 अगस्त तक पश्चिमी प्रशांत महासागर के गुआम तट पर हुआ था ।
  • भारतीय नौसेना में आईएनएस रणविजय और आईएनएस सतपुरा, एक पनडुब्बी और पी8आई समुंद्री गश्ती विमान के बेड़े को तैनात किया है ।
  • मालाबार नौसेना युद्धाभ्यास 1992 में हिंद महासागर में भारतीय नौसेना और अमेरिकी नौसेना के बीच द्विपक्षीय अभ्यास के रूप में शुरू हुआ था । 2015 में जापान भी इसका सदस्य बना । भारत के निमंत्रण के बाद पिछले साल आस्ट्रेलिया भी मालाबार अभ्यास में हिस्सा लेना शुरू किया था ।

चीन और रूस नौसेनाओं ने युद्धाभ्यास शुरू किया

  • चीन और रूस की नौसेनाओं ने रूस के सुदुर पूर्व में 14 अक्टूबर को संयुक्त युद्धाभ्यास शुरू किया जो दोनों देशों के बीच बढ़ते राजनीतिक और सैन्य सहयोग का संकेत हैं ।
  • “संयुक्त समुद्र 2021” नाम से यह युद्धाभ्यास 14 अक्टूबर को रूस के सुदूर पूर्व में पीटर महान की खाड़ी में शुरू हुआ और 17 अक्टूबर तक चलेगा ।

भारत और अमेरिकी सैनिकों का संयुक्त अभ्यास “एक्स युद्ध अभ्यास 21” शुरू

  • भारत और अमेरिकी सैनिकों का संयुक्त अभ्यास “एक्स युद्ध अभ्यास 21” अमेरिका के अलास्का में एमेंडार्फ रिचर्डसन सैन्य अड्डे पर शुक्रवार को शुरू हो गया । अभ्यास की शुरुआत के मौके पर दोनों देशों के राष्ट्र ध्वज फहराए गए और राष्ट्रीय गान गाए गए ।
  • इस अभ्यास का आयोजन 15 अक्टूबर से 29 अक्टूबर तक किया जाएगा । 14 दिनों के इस अभ्यास में मुख्य तौर पर संयुक्त राष्ट्र के निर्देशो के तहत आतंकवाद का सामना करने और इन्हें हराने का प्रशिक्षण दिया जाना है ।
  • पेंटागन के अनुसार अभ्यास में अमेरिकी सेना के फर्स्ट स्क्वाड्रन के 300 जवान और भारतीय सेना के 7 मद्रास इन्फेंट्री बटालियन के 350 जवान भाग ले रहे हैं । 14 दिनों के इस अभ्यास में दोनों देशों के सैनिक जवाबी कार्रवाई और आंतकवाद के खिलाफ संयुक्त अभियान के लिए अभ्यास करेंगे ।

भारत तथा ब्रिटेन ने “अजेय वारियर” सैन्य अभ्यास शुरू

  • भारत तथा ब्रिटेन ने द्विपक्षीय रक्षा सहयोग को और मजबूत करने के लिए उत्तराखंड के चौबटिया में गुरुवार को 2 सप्ताह का सैन्य अभ्यास शुरू किया । सेना ने कहा कि “अजेय वारियर” अभ्यास अंतर अभियान क्षमता विकसित करने और विशेषज्ञता को साझा करने की पहल का हिस्सा है ।
  • भारतीय सेना की एक इन्फैंट्री कंपनी और ब्रिटेन की सेना का एक समान बल अपने-अपने देशों में विभिन्न सैन्य अभियानों के संचालन के दौरान और विदेशों में अभ्यास के दौरान प्राप्त अनुभवों को साझा करेंगे ।

भारत- जापान द्विपक्षीय समुद्री अभ्यास 

भारत और जापान का पांचवा संस्करण समुंद्री द्विपक्षीय अभ्यास जिमैक्स ( JIMEX-21) 6-8 अक्टूबर 2021 तक अरब सागर में आयोजित किया जाएगा । भारतीय नौसेना का प्रतिनिधित्व स्वदेश निर्मित गाइडेड मिसाइल स्टेल्थ डिस्ट्रॉयर कोच्चि और गाइडेड मिसाइल फ्रिगेट तेंग , पी8आई लॉन्ग रेंज मैरीटाइम पैट्रोल एयरक्राफ्ट , डोर्नियर मैरीटाइम पेट्रोल एयरक्राफ्ट , इंटीग्रल हेलीकॉप्टर और मिग 29k फाइटर एयरक्राफ्ट द्वारा किया जाता है ।

भारत और श्रीलंका ने “मित्र शक्ति” अभ्यास शुरू

  • भारत और श्रीलंका ने आतंकवाद निरोधक सहयोग बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित करते हुए पूर्वी श्रीलंकाई जिले अंपारा के कॉम्बैट ट्रेंनिंग स्कूल में 12 दिन का सैन्य अभ्यास शुरू किया ।
  • श्रीलंका की सेना ने कहा कि “मित्र शक्ति” अभ्यास का आठवां सत्र 4 अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक चलेगा । इसमें कर्नल प्रकाश कुमार के नेतृत्व में भारतीय सेना के 120 जवानों की टुकड़ी भाग ले रही हैं ।

भारत और नेपाल के बीच “सूर्य किरण” सैन्य अभ्यास शुरू

  • भारत और नेपाल के बीच 20 सितंबर से उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में 15 दिवसीय सैन्य अभ्यास की शुरुआत की । इस अभ्यास में आंतकवाद निरोधक एवं आपदा राहत अभियानों पर ध्यान केंद्रित किया जाना है ।
  • भारतीय सेना ने कहा कि 15वें भारत-नेपाल सैन्य प्रशिक्षण अभ्यास “सूर्य किरण” का मकसद दोनों सेनाओं के बीच समग्र अंतर-संचालन को बढ़ावा देना है ।

भारत व सिंगापुर ने किया तीन दिनसीय सैन्य अभ्यास

  • भारत और सिंगापुर ने पिछले 3 दिनों में दक्षिणी चीन सागर के दक्षिणी किनारे पर एक नौसैन्य अभ्यास “सिम्बेक्स” किया है । सिंगापुर और भारत की नौसेनाओं के बीच द्विपक्षीय सैन्य अभ्यास ” सिम्बेक्स” 2 से 4 सितंबर तक आयोजित किया गया ।
  • यह सिंगापुर- भारत समुंद्री द्विपक्षीय अभ्यास (सिम्बेक्स) का 28 वा संस्करण था । इस अभ्यास का मकसद ” द्विपक्षीय रक्षा संबंधों की ताकत को और बढ़ाना देना है ।”

ऑस्ट्रेलिया और भारत की नौसेना ने शुरू किया द्विपक्षीय अभ्यास “ऑसइंडेक्स”

  • पूर्वी बेड़े के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग रियर एडमिरल तरुण सोबती की कमान के तहत भारतीय नौसेना के टास्क ग्रुप ने सोमवार से रॉयल आस्ट्रेलियन नेवी के साथ द्विपक्षीय अभ्यास “ऑसइंडेक्स” शुरू किया ।
  • द्विपक्षीय अभ्यास का यह चौथा संस्करण 10 सितंबर तक चलेगा । इस अभ्यास में भारत के जहाज आईएन शिवालिक और कदमत शामिल हुए हैं जबकि आस्ट्रेलिया की ओर से एंजेग क्लास फ्रिगेट एचएमएएस वाररामंगा हिस्सा ले रहा है ।
  • इस अभ्यास का उद्देश्य दोनों सेनाओं को अंतर- संचालन को और मजबूत करने, सर्वोत्तम प्रथाओं से लाभ उठाने और समुद्री सुरक्षा संचालन के लिए प्रक्रियाओं की एक सामान्य समझ विकसित करने का अवसर प्रदान करेगा ।

रूस में शुरू हुआ सैन्य अभ्यास जैपेड़- 2021

  • पारंपरिक युद्ध क्षेत्र परिदृश्य में संयुक्त अभियान चलाने के लिए सैनिकों को प्रशिक्षित करने के उद्देश्य से रूस के निजनी में अभ्यास जैपेड़- 2021 शुरू हुआ । इस अभ्यास का उद्देश्य भारत और रूस के बीच लंबे समय से चली आ रही रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करना और इस अभ्यास में भाग लेने वाले अन्य सभी देशों के साथ बेहतर संबंध और सहयोग को बढ़ाना है ।
  • इस अभ्यास का उद्घाटन समारोह गुरुवार को रूस के नोवगोग्राड क्षेत्र में निजनी के पास मुलीनो ट्रेनिंग ग्राउंड में आयोजित किया गया । इस समारोह की शुरुआत रूसी सेना के गार्ड ऑफ ऑनर के साथ हुई । जैपेड़- 2021 रूसी सशस्त्र बलों के थिएटर स्तर के अभ्यास में से एक है और यह मुख्य रूप से आतंकवादियों के खिलाफ ऑपरेशन पर केंद्रित होगा । भारतीय सेना की ओर से अभ्यास में भाग लेने के लिए नागा बटालियन का ऑल आर्म्स कंबाइंड टास्क फोर्स गया है । इस अभ्यास का समापन 16 सितंबर को होगा ।

शांति मिशन- 2021 सैन्य अभ्यास शुरू

  • शांति मिशन- 2021, शांगहाई सहयोग संगठन (एससीओ) के संयुक्त आतंकवाद रोधी सैन्य अभ्यास में भाग लेने वाले 8 देशों के 4000 से अधिक सैनिक 11 सितंबर को अभ्यास क्षेत्र यानी रूस के ऑरेनबर्ग ओब्लास्ट राज्य के रूसी रक्षा मंत्रालय के तीसरे केंद्रीय वैज्ञानिक अनुसंधान संस्थान के वायु रक्षा विज्ञान परीक्षण क्षेत्र पहुंचे ।
  • यह अभ्यास 11 से 25 सितंबर तक आयोजित होगा । एससीओ के ढांचे के भीतर यह 14वां संयुक्त अभ्यास है । चीन, रूस, कजाकिस्तान, ताजिकिस्तान, किर्गिस्तान, भारत, पाकिस्तान ,उज्बेकिस्तान सहित आठ एससीओ सदस्य देश लगभग 4000 सैनिक भेजकर इस अभ्यास में भाग लेंगे ।

सिम्बेक्स -2021 नौसेन्य अभ्यास

🔸देश – भारत और सिंगापुर
🔸कहाँ – दक्षिणी चीन सागर
🔸कब – 2 से 4 सितंबर 2021
🔸संस्करण – 28वां
🔸उद्देश्य – ” द्विपक्षीय रक्षा संबंधों की ताकत को और बढ़ाना देना है ।”

जायेद तलवार – 2021

🔸देश – भारत और संयुक्त अरब अमीरात
🔸कहाँ – आबूधाबी के तट पर
🔸उद्देश्य – इस अभ्यास के दौरान दोनों देशों की सेनाओं के बीच लक्ष्य साधने, बचाव और राहत अभियान चलाने तथा आपसी सहयोग पर बल दिया गया है ।

काजिन्द – 2021

🔸देश – भारत और कजाकिस्तान
🔸कहाँ – आइशा बीबी,कजाकिस्तान
🔸उद्देश्य – रणनीतिक संबंधों को मजबूत करने और सैन्य कूटनीति के एक हिस्से के रूप में भारत और कजाकिस्तान की सेनाओं के बीच संयुक्त प्रशिक्षण

सैन्य अभ्यास “इंद्र-2021”

🔸देश – भारत और रूस
🔸आयोजन स्थल – दक्षिणी रूस के वोल्गोग्राड क्षेत्र में प्रुडबोई अभ्यास रेंज
🔸उद्देश्य – भारत और रूस के बीच त्री-सेवा सैन्य अभ्यास दोनों देशों के सशस्त्र बलों के बीच बंधन को और मजबूत करने के उद्देश्य से किया जा रहा है ।

“कटलैस एक्सप्रेस – 2021” सैन्य अभ्यास

🔸देश – 12 पूर्वी अफ्रीकी देशों , यूएस,यूके,भारत और विभिन्न अंतरराष्ट्रीय संगठन जैसे अंतर्राष्ट्रीय समुद्री संगठन ( IMO) , ड्रग्स एंड क्राइम पर संयुक्त राष्ट्र कार्यालय ( UNODC), इंटरपोल , यूरोपियन यूनियन नेवल फोर्स की भागीदारी शामिल है ।
🔸आयोजन स्थल – अफ्रीका के पूर्वी तट मोम्बासा
🔸उद्देश्य – यह वार्षिक समुद्री अभ्यास पूर्वी अफ्रीका और पश्चिमी हिंद महासागर में राष्ट्रीय और क्षेत्रीय समुद्री सुरक्षा को बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा है ।

“कोरपेट” संयुक्त सैन्य अभ्यास 2021

🔸देश – भारत और इंडोनेशिया
🔸CORPAT – India Indonesia coordinated patrol.
🔸आयोजन स्थान – हिंद महासागर
🔸उद्देश्य – वाणिज्यिक शिपिंग, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार और वैध समुंद्री गतिविधियों के संचालन के लिए हिंद महासागर क्षेत्र को सकुशल और सुरक्षित रखना है ।

मुस्तफा केमल अतातुर्क सैन्य अभ्यास

🔸देश – तुर्की और अजरबैजान
🔸आयोजन स्थान – बाकू
🔸उद्देश्य – युद्ध संचालन के दौरान दोनों देशों की सैन्य इकाइयों के बीच बातचीत में सुधार करना, कमाण्डरों के सैन्य निर्णय लेने के कौशल और सैन्य इकाइयों का प्रबंधन करने की उनकी क्षमता विकसित करना था ।

इंडो थाई “CORPAT” अभ्यास ( 31वां संस्करण )

🔸कहाँ ➡ अंडमान सागर
🔸देश ➡ भारत व थाईलैंड
🔸उद्देश्य ➡ इस अभ्यास का उद्देश्य दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच आपसी सहयोग, सैन्य शक्ति का प्रदर्शन करना ।

इन-ईयू नेवफोर ( IN EUNAVFOR) अभ्यास

🔸कहाँ – अदन की खाड़ी
🔸देश – भारत तथा यूरोपीय संघ
🔸उद्देश्य – दोनों देशों की नौसेना के बीच अच्छे संबंध स्थापित करना है, ताकि युद्ध की स्थिति से निपटा जा सके ।

सी ब्रीज ड्रिल्स युद्ध अभ्यास

🔸कहाँ – काला सागर
🔸देश- यूक्रेन और अमेरिका
🔸उद्देश्य – इस नौसैनिक युद्ध अभ्यास का मुख्य उद्देश्य दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच अच्छे संबंध स्थापित करना है ताकि युद्ध जैसी स्थिति से निपटा जा सके ।

एमफैक्स-21 ( AMPHEX-21)

🔸कब ➡ 21-25 जनवरी 2021
🔸देश ➡ भारत ( तीनों सेना )
🔸कहाँ ➡ अंडमान और निकोबार द्वीप समूह
🔸उद्देश्य ➡ अपने द्वीप क्षेत्रों की क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए भारत की क्षमताओं का सत्यापन करना था ।

डेजर्ट नाइट- 21 ( Desert Knight-21)

🔸कब ➡ 20- 24 जनवरी, 2021
🔸देश ➡ भारत तथा फ्रांसीसी वायु सेना
🔸कहाँ ➡ जोधपुर
🔸उद्देश्य ➡ दुश्मन देशों से रक्षा करना

सी विजिल 21 ( Sea Vigil 21)

🔸कब ➡ 12-13 जनवरी, 2021
🔸देश ➡ भारत ( नौसेना )
🔸उद्देश्य ➡ समुंद्री रक्षा

युद्ध अभ्यास – 20 ( Yudh Abhyas-20)

🔸कब ➡ 8-21 फरवरी, 2021
🔸देश ➡ भारत- अमेरिका
🔸कहाँ ➡ बीकानेर (राजस्थान )
🔸उद्देश्य ➡ यह द्विपक्षीय युद्धाभ्यास रेगिस्तानी इलाके की पृष्ठभूमि में आतंकवाद का मुकाबला करने के अभियान पर केंद्रित था ।

ट्रोपेक्स- 21 ( TROPEX-21)

🔸कब ➡ फरवरी, 2021
🔸देश ➡ भारतीय नौसेना
🔸कहाँ ➡ पोर्ट ब्लेयर
🔸उद्देश्य ➡ युद्ध के समस्त आयामों में युद्ध लड़ने की अपनी अवधारणाओं को मान्यता प्रदान करना है ।

एक्सरसाइज डेजर्ट फ्लैग -VI ( Exercise Desert Flag- VI)

🔸कब ➡ 3-27 मार्च, 2021
🔸देश ➡ संयुक्त अरब अमीरात, भारत, अमेरिका, फ्रांस, सऊदी अरब, दक्षिण कोरिया और बहरीन की वायु सेना
🔸कहाँ ➡ संयुक्त अरब अमीरात (UAE)
🔸उद्देश्य ➡ बहु राष्ट्रीय रोजगार युद्ध अभ्यास

दुस्तलिक- 2 ( Dustlik-2)

🔸कब ➡ 10 मार्च, 2021
🔸देश ➡ भारत-उज्बेकिस्तान
🔸कहाँ ➡ रानीखेत (उत्तराखंड )

एस्टरेक्स (AsterX)

🔸कब ➡ 8 मार्च, 2021
🔸देश ➡ फ्रांस
🔸कहाँ ➡ अंतरिक्ष
🔸उद्देश्य ➡ किसी हमले की स्थिति में अपने अंतरिक्ष उपग्रह और अन्य उपकरणों की रक्षा के लिए अपने अंतरिक्ष कमान की क्षमता का आंकलन करना है ।

ऑपरेशन संकल्प ( PASSEX)

🔸कब ➡ 17 मार्च, 2021
🔸देश ➡ भारत- बहरीन (नौ सेना)
🔸कहाँ ➡ फारस की खाड़ी

डेफएक्सपो इंडिया 2021

🔸कब ➡ 19-21 मार्च
🔸कहाँ ➡ चेन्नई

वरुण- 2021

🔸कब ➡ 25-27 अप्रैल
🔸देश ➡ भारत और फ्रांस
🔸कहाँ ➡ अरब सागर

खंजर – 2021

🔸कब ➡ अप्रैल, 2021
🔸देश ➡ भारत और किर्गिस्तान
🔸कहाँ ➡ Bishek

शांतिर ओग्रोशेना- 2021

🔸कब ➡ अप्रैल ,2021
🔸देश ➡ भारत और बांग्लादेश
🔸कहाँ ➡ बांग्लादेश

पैसेज एक्सरसाइज 2021

🔸कब ➡ मई 2021
🔸देश ➡ भारत और इंडोनेशिया
🔸कहाँ ➡ अरब सागर (नौसेना)

स्टेडफास्ट डिफेंडर 2021 वार गेम्स

🔸कब ➡ 30 मई
🔸देश ➡ Nato
🔸कहाँ ➡ यूरोप


Leave a Reply

error: Content is protected !!
Scroll to Top