राजस्थान इनोवेशन विजन ( राजीव- 2021 )

Rajasthan innovation vision 2021 in Hindi

 🔸कार्यक्रम का शीर्षक : “राजस्थान इनोवेशन विजन ( राजीव- 2021 ) कार्यक्रम “

🔸आयोजन का अवसर : पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी के 77वें जन्म दिवस के अवसर पर

🔸आयोजन तिथि: 20 अगस्त 2021

🔸थीम : सूचना तकनीक के सुशासन

🔸लांच किए गए प्रोग्राम : इस कार्यक्रम को संबोधित करने के अवसर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने “राज किसान साथी पोर्टल” , ” आई-स्टार्ट वर्चुअल इन्क्यूबेशन प्रोग्राम ” और ” राजीव गांधी आईटी क्विजथॉन” का भी शुभारंभ किया ।

इसके साथ ही उन्होंने “राजीव /75 फण्ड” के तहत 21 चयवित स्टार्टअप्स को 2 करोड रुपए के फंड का वितरण भी किया ।

Rajasthan innovation vision 2021 in Hindi
Rajasthan innovation vision 2021 in Hindi

राज किसान साथी पोर्टल का लोकार्पण –

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी की जयंती पर “राज किसान साथी पोर्टल” का लोकार्पण 20 अगस्त 2021 को किया ।

यह किसानों को डिजिटल तकनीक से जोड़कर उन्नत कृषि और कृषि विपणन को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण होगा । यह पोर्टल सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग तथा राजकॉम्प इंफो सिस्टम लिमिटेड के माध्यम से विकसित करवाया जा रहा है ।

इस प्रोजेक्ट के तहत कृषि एवं संबंधित विभागों के कुल 144 मॉड्यूल्स विकसित किए जाएंगे, जिनमें से वर्ष 2020- 21 में 46 मॉड्यूल्स तैयार किए जा चुके हैं तथा 2021-22 में 50 मॉड्यूल्स बनाए जा रहे हैं ।

मोबाइल ऐप :- राज किसान साथी पोर्टल पर किसानों, व्यापारियों और कार्मिकों के लिए 8 मोबाइल ऐप भी बनाए गई है ।

🔸किसानों के लिए चलाई जा रही योजनाओं और अनुदान के बारे में जानकारी के लिए “राज किसान सुविधा एप” तैयार किया गया है ।

🔸जैविक उपज तथा खजूर के पौधों की बिक्री के लिए खरीदार और विक्रेता के पंजीयन के लिए “राज किसान क्रेता- विक्रेता मोबाइल एप” बनाया गया है ।

🔸टिड्डी मॉनिटरिंग और नियंत्रण की जानकारी के लिए “राज किसान लोकस्ट एप” बनाया गया है ।

मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणाएँ:-

इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा स्टार्टअप के क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धि हासिल करने वाले युवाओं को “राजीव गांधी इनोवेशन अवार्ड” देने की घोषणा की । इसके तहत प्रथम पुरस्कार के रूप में दो करोड़, द्वितीय पुरस्कार के रूप में एक करोड़ तथा तृतीय पुरस्कार के रूप में 50 लाख की राशि प्रदान की जाएगी ।

तकनीकी शिक्षा को अधिक रोजगारन्मुखी बनाने के लिए लगभग ₹400 करोड़ की लागत से जोधपुर में “फिनटेक यूनिवर्सिटी” की स्थापना की जा रही हैं । उन्होंने इसका नाम पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी के नाम पर करने की घोषणा की ।

उन्होंने प्रदेश में 14 नवंबर 2021 से “राजीव गांधी युवा कोर” का शुभारंभ किए जाने की भी घोषणा की ।

प्रदेश के 200 मेधावी विद्यार्थियों को देश-विदेश के प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थानों में अध्ययन के लिए उन्होंने “राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस” की घोषणा की । इस योजना पर प्रतिवर्ष करीब 100 करोड रुपए खर्च किए जाएंगे जिसमें विद्यार्थियों के अध्ययन का पूरा व्यय राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा ।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Scroll to Top