2021 के पोर्टल एवं ऐप | Web Portals & App Launched by Government 2021

Portal and App 2021 in Hindi

Portal and App 2021 in Hindi
Portal and App 2021 in Hindi

 2021 के लॉन्च सभी ऐप और पोर्टल

प्राण पोर्टल ( PRANA Portal)

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने 7 सितंबर 2021 को “प्राण” नामक एक पोर्टल लांच किया । इसका उपयोग राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्यक्रम की प्रगति को ट्रैक करने के लिए किया जाएगा ताकि सभी को स्वच्छ हवा और नीला आसमान सुनिश्चित करने के लिए भारत की प्रतिबद्धता का पालन किया जा सके । यह जनता को वायु गुणवत्ता के बारे में जानकारी भी प्रसारित करेगा ।

“वाई ब्रेक” ऐप

आयुष मंत्रालय ने एक योग प्रोटोकॉल विकसित किया है जो रोजाना काम की दिनचर्या के साथ तालमेल बनाते हुए पेशेवरों को तनाव घटाने और फिर से काम पर ध्यान केंद्रित करने में मदद कर सकता है । आसन, प्राणायाम और ध्यान सहित 5 मिनट का प्रोटोकॉल एक ऐप “वाई ब्रेक” के माध्यम से उपलब्ध होगा । आयुष मंत्री सर्बानंद सोनोवाल 1 सितंबर 2021 को इस ऐप की शुरुआत करेंगे ।

युक्तधारा पोर्टल

इसरो और ग्रामीण विकास मंत्रालय
यह प्लेटफॉर्म विभिन्न राष्ट्रीय ग्रामीण विकास कार्यक्रम जैसे- मनरेगा, एकीकृत वाटरशेड प्रबंधन कार्यक्रम , ड्रॉप मोर क्रॉप और राष्ट्रीय कृषि विकास योजना आदि के अंतर्गत बनाई गई परिसंपत्तियों के भंडार के रूप में कार्य करेगा ।

पीएम-दक्ष पोर्टल व पीएम-दक्ष ऐप

सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय
इसके माध्यम से कौशल विकास पर अल्पावधि प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रदान किया जाता है । जैसे- अप-स्किलिंग/ रिस्किलिंग, उद्यमिता विकास कार्यक्रम और दीर्घकालिक प्रशिक्षण कार्यक्रम ।

अनुपालन सूचना पोर्टल ( CIP)

4 अगस्त 2021 को केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड ने अनुपालन सूचना पोर्टल का शुभारंभ किया । यह पोर्टल एक क्लिक पर सीमा शुल्क टैरिफ के तहत शामिल सभी वस्तुओं के आयात और निर्यात से संबंधित सभी जरूरतों के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करेगा ताकि सीमा पार व्यापार करने में आसानी हो ।

उत्तराखंड भूकंप अलर्ट ऐप

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी मोबाइल एप्लीकेशन “उत्तराखंड भूकंप अलर्ट” का शुभारंभ 4 अगस्त 2021 को किया । इस ऐप के माध्यम से भूकंप से पूर्व चेतावनी मिल जाएगी,इससे जन सुरक्षा मिल जाएगी । उत्तराखंड यह ऐप बनाने वाला देश का पहला राज्य है ।

नमस्ते योग ऐप

सातवीं अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के सिलसिले में 12 जून 2021 को आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान “नमस्ते योग” नाम से मोबाइल ऐप की शुरुआत की गई है । इस कार्यक्रम का आयोजन आयुष मंत्रालय में मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान के सहयोग से किया था । इस ऐप का उद्देश्य योग के बारे में जागरूकता बढ़ाना और इसे अधिक से अधिक लोगों के लिए सुलभ बनाना है ।

SAGE पोर्टल

भारत में तेजी से बढ़ती वरिष्ठ नागरिकों की आबादी की आवश्यकताओं पर ध्यान केंद्रित करने के उद्देश्य से सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय ने 4 जून 2021 को सीनियर केयर एजिंग ग्रोथ इंजन ( senior care Ageing Growth Engine—SAGE) परियोजना और SAGE पोर्टल लॉन्च किया ।

सिंगल विंडो क्लीयरेंस पोर्टल

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कोयला खदानों के संचालन के लिए “सिंगल विंडो क्लीयरेंस” पोर्टल का शुभारंभ 11 जनवरी, 2021 को किया ।

यह पोर्टल भारत में कोयला खदान शुरू करने के लिए जरूरी सभी औपचारिकताओं को पूरा करने और मंजूरियों को दिलाने की प्रक्रिया में सहयोग देने के लिए कोयला मंत्रालय द्वारा शुरू किया गया है ।

ऑटोमेटेड ई- पोर्टल

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की ई-फाइलिंग वेबसाइट पर एक ऑटोमेटेड ई- पोर्टल( Automated E-Portal) लॉन्च किया है । सीबीडीटी के अनुसार उसके ई- फाइलिंग पोर्टल पर टैक्स चोरी अथवा बेनामी संपत्ति होल्डिंग की जानकारी देने संबंधी लिंक को 12 जनवरी, 2021 से एक्टिव कर दिया गया है ।

इसी पोर्टल पर कोई भी व्यक्ति कर चोरी या विदेश में अघोषित संपत्ति के साथ ही बेनामी संपत्ति से जुड़ी शिकायत ऑनलाइन कर सकता है ।

नवोन्मेष पोर्टल

केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने 14 जनवरी 2021 को राष्ट्रीय नवप्रवर्तन प्रतिष्ठान- भारत [ National Innovation Foundation(NIF)- India ] द्वारा विकसित एक “नवोन्मेष पोर्टल ” राष्ट्र को समर्पित किया ।

इस राष्ट्रीय नवोन्मेष पोर्टल पर वर्तमान में इंजीनियरिंग, कृषि, पशु चिकित्सा और मानव स्वास्थ्य को कवर करते हुए देश के आम लोगों के लगभग 1.15 लाख नवाचारों का ब्यौरा है ।

वर्तमान में इसमें ऊर्जा, यांत्रिकी, ऑटोमोबाइल, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स, घरेलू, रासायनिक, सिविल, वस्तु, खेती फसल संबंधी, भंडारण, पौधों के प्रकार, पौधों की रक्षा, कुकुट, मवेशी प्रबंधन जैसे कई विषयों पर नवाचार को कवर किया गया है ।

गोबरधन का एककृत पोर्टल

केंद्रीय मंत्रियों ने देशभर में गोबरधन योजनाओं की गतिविधियों की प्रगति की निगरानी के लिए 3 फरवरी, 2021 को संयुक्त रूप से एकीकृत वेब पोर्टल “गोबरधन का एकीकृत पोर्टल” (Unified Portal of Gobardhan) शुरू किया ।

यह जैविक ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के लिए ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के दूसरे चरण का एक महत्वपूर्ण घटक है ।

इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म ‘संदेश’

राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (NIC) ने व्हाट्सएप की तर्ज पर ‘संदेश'(Sandes) नामक इंस्टेंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म (Instant Messaging Platfrom) लॉन्च किया है ।

यह नया प्लेटफार्म मौजूदा सरकारी इंस्टेंट मैसेजिंग सिस्टम (GIMS) का अपडेट वर्जन है, जो सरकारी अधिकारियों को व्हाट्सएप जैसे एप की सर्विस देने के लिए विकसित किया गया था ।

इस ऐप में ग्रुप बनाने, संदेश भेजने, मैसेज फॉरवर्ड करने और इमेजीज़ ऐसी तमाम सुविधाएं मौजूद हैं ।

आत्मनिर्भर निवेशक मित्र पोर्टल

घरेलू निवेश को बढ़ावा देने के प्रयासों को और अधिक मजबूत करने के उद्देश्य से घरेलू निवेशकों को सहारा एवं सुविधा प्रदान करने सूचनाओं को प्रसारित करने तथा सहूलियत देने के लिए वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय का उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग (DPIIT) “आत्मनिर्भर निवेशक मित्र” नाम के एक समर्पित डिजिटल पोर्टल को अंतिम रूप देने की प्रक्रिया में है ।

इस पोर्टल के तहत “इन्वेस्ट इंडिया” में एक समर्पित डिजिटल निवेश प्रोत्साहन और सुविधा टीम स्थापित की जाएगी तथा यह घरेलू निवेशकों को “इन्वेस्ट इंडिया” के विशेषज्ञों के साथ सीधे जुड़ने या वार्ता करने की सुविधा प्रदान करेगा, जिससे वे निवेश संबंधी मुद्दों पर चर्चा कर सकेंगे ।

“प्रिज़्म” पोर्टल

विज्ञान और इंजीनियरिंग अनुसंधान बोर्ड (SERB) द्वारा ‘प्रोजेक्ट इनफॉरमेशन सिस्टम एंड मैनेजमेंट’ या प्रिज़्म( PRISM) नामक एक पोर्टल की स्थापना की गई है । यह पोर्टल सर्ब द्वारा समर्पित विभिन्न शोध परियोजनाओं पर वास्तविक समय में जानकारी प्रदान करता है ।

इसका पूरा नाम है – विज्ञान और इंजीनियरिंग अनुसंधान बोर्ड -“प्रोजेक्ट इनफार्मेशन सिस्टम एंड मैनेजमेंट ” (SERB-PRISM) ।

सुगम्य भारत एप

सामाजिक न्याय तथा अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने “सुगम्य भारत एप” को लांच किया , जिसे दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग (DEPWUD) द्वारा विकसित किया गया है ।

इसका उद्देश्य देशभर में दिव्यांगजनों के लिए एक बाधा रहित और सुखद वातावरण तैयार करना है ।

मोबाइल सेवा एप स्टोर

इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राज्यसभा में बताया है कि भारत ने अपना पहला स्वदेशी रूप से विकसित एप स्टोर “मोबाइल सेवा एप स्टोर” ( Mobile Seva App Store) विकसित किया है तथा भारत मोबाइल एप्लीकेशन का सबसे बड़ा यूजर है । इसके अलावा इंडिया एप मार्केट स्टैटिस्टिक्स की रिपोर्ट- 2021 के अनुसार एंड्राइड पर लगभग 5% एप भारतीय डेवलपर्स के हैं ।

मोबाइल सेवा एप स्टोर एक सरकारी मोबाइल एप्लीकेशन होस्टिंग प्लेटफॉर्म है, जिसका स्वामित्व सरकार के पास है । इसका मुख्य उद्देश्य आम लोगों को पब्लिक और सरकारी सेवाओं के लिए एप प्रदान करना । साथ ही इस ऐप के जरिए सभी सरकारी एप्स को एक स्थान पर कलेक्ट कर One Stop Store सेवा शुरू की गई ।

प्रणीत (PRANIT) पोर्टल

विद्युत मंत्रालय के अंतर्गत केंद्रीय प्रतिष्ठान पावरग्रिड कॉरपोरेशन इंडिया लिमिटेड ने एक ई-टेंड्रिंग पोर्टल” प्रणीत” स्थापित किया है , जिससे कागजी कार्य में कमी आएगी, संचालन में सुगम्यता होगी और निविदा प्रक्रिया अधिक पारदर्शी होगी ।

इसे भारत सरकार के मानकीकरण, परीक्षण तथा गुणवत्ता प्रमाणन निदेशालय ( STQC) द्वारा प्रमाणित किया गया है ।

UP-FPO-Shakti पोर्टल

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 21 मार्च,2021 को किसान उत्पादक संगठनों के लिए सरकार द्वारा निर्मित देश का प्रथम ऑनलाइन पोर्टल “यूपी-एफपीओ-शक्ति” को लॉन्च किया ।

इस पोर्टल को शुरू करने के पीछे सरकार का उद्देश्य जमीनी स्तर पर किसानों को लाभान्वित करना है । यह पोर्टल किसानों, उत्पादक संगठनों और व्यापारियों को मंच प्रदान करेगा ताकि खुला और आवश्यकता के अनुरूप मार्केट उपलब्ध हो सके ।

MANAS APP

भारत सरकार के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार ने हाल ही में भारत के लोगों के मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए एक मोबाइल एप्लीकेशन लॉन्च की है । एक को मानस एप (MANAS APP) नाम दिया गया है ।

MANAS – Mental Health and Normalcy Augmentation system

ऑनलाइन शिकायत प्रबंधन पोर्टल

केंद्रीय संचार और कानून और न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग (NCSC) के ऑनलाइन शिकायत प्रबंधन पोर्टल का शुभारंभ किया । इस पोर्टल को भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के सहयोग से भास्कराचार्य इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस एप्लीकेशन एंड जियोइन्फॉर्मेटिक्स (BISAG-N) द्वारा उत्कृष्टता केंद्र के रूप में बनाया गया,जो शिकायतों के एंडटू- एंड- ई- फाइलिंग शिकायतों और उनके ट्रैकिंग की सुविधा प्रदान करेगा ।

लिटिल गुरु ऐप

दुनिया का पहला गेमिफीड संस्कृत लर्निंग ऐप लॉन्च किया गया। इस ऐप का नाम लिटिल गुरू रखा गया है । बांग्लादेश के लोग संस्कृत भाषा सीखने में रुचि के प्रति भारतीय उच्चायोग का इंदिरा गांधी संस्कृति केंद्र ने बांग्लादेश में संस्कृति लर्निंग एप “लिटिल गुरु” लांच किया ।

मधुक्रांति पोर्टल

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने नई दिल्ली स्थित कृषि भवन में मधु क्रांति पोर्टल हनी कॉर्नर का शुभारंभ किया । उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र को आगे बढ़ाने व किसानों की आय वृद्धि के लिए भारत सरकार पुरी शिद्दत के साथ काम कर रही है । उन्होंने शहद योजना का शुभारंभ करते हुए कहा कि शहद का उत्पादन बढ़ाकर निर्यात में वृद्धि की जा सकती है ।

भुवन पोर्टल

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) और “मैप माय इंडिया” ने एक स्वदेशी भू-स्थानिक पोर्टल “भुवन” को प्रारम्भ करने के लिए आपस में भागीदारी की है । यह एक प्रकार का वेबपोर्टल है, जिसका उपयोग इंटरनेट के माध्यम से भौगोलिक जानकारी और अन्य संबंधित भौगोलिक सेवाओं को खोजने और उनका उपयोग करने के लिए किया जाता है ।

आई- लर्न एप (I-Learn App)

नागालैंड के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री एस पंगनु फू ने 23 मार्च को एक आभासी कार्यक्रम के दौरान आई-लर्न क्षमता निर्माण और प्रदर्शन ट्रैकिंग एप्लीकेशन लॉन्च किया । आई-लर्न एप सामुदायिक स्वास्थ्य के लिए एक सीखने की प्रबंध प्रणाली है ।

“मेरा राशन” मोबाइल ऐप

12 मार्च, 2021 को केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने “मेरा राशन” मोबाइल ऐप लॉन्च किया जो आजीविका की तलाश में नए स्थानों पर पलायन करते हैं ।

इस एप की सहायता से लाभार्थी निकटतम उचित मूल्य की दुकान की पहचान करके और अपनी हकदारी और हाल ही के लेनदेन के विवरण की जांच कर सकता है ।

“स्नेकपीडिया” मोबाइल ऐप

केरल में वैज्ञानिकों, डॉक्टरों और फोटोग्राफरों की एक टीम ने “स्नेकपीडिया” नाम से एक मोबाइल एप्लीकेशन लॉन्च किया है , जो साँपों पर सभी जानकारी उपलब्ध करेगा, साथ ही जनता के साथ-साथ सांपों के काटने में इलाज में लोगों की मदद करेगा ।

ई-छावनी पोर्टल

भारत सरकार के रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने नई दिल्ली में 62 छावनी बोर्डों के निवासियों को ऑनलाइन नागरिक सेवाएं प्रदान करने वाला “ई-छावनी पोर्टल एवं मोबाइल ऐप” लॉन्च किया है ।

कृषि सखा ऐप

जनवरी, 2021 में भारती एक्सा जनरल इंश्योरेंस ने किसानों के लिए “कृषि सखा ऐप” लांच किया । यह ऐप देश में किसानों की विशेष जरूरतों को पूरा करेगा और खेती के सर्वश्रेष्ठ तरीकों के लिए उनका मार्गदर्शन करेगा ।

डिज़नीस्ट मोबाइल ऐप

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अरविंदर सिंह ने राज्य के जनसंपर्क विभाग के कामकाज को अधिक स्वचालित और कुशल बनाने के लिए वर्चुअल मोबाइल एप “डिज़नीस्ट” लॉन्च किया ।

को-विन (CO-WIN) App

16 जनवरी, 2021 को राष्ट्रीय टीकाकरण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने को-विन ऐप को लॉन्च किया । कोविन ऐप भारत में कोरोना टीकाकरण के लिए एक मैनेजमेंट सिस्टम है जो कि क्लाउट आधारित है । इस ऐप में टीकाकरण केंद्र से लेकर टीका लेने वाले लोगों की पूरी सूची रहेगी । इस ऐप से कोरोना टीकाकरण प्रक्रिया की पूरी ट्रैकिंग होगी । इसमें भारत में लगाए जाने वाले टीकों का पूरा लेखा-जोखा रहेगा ।

उद्यम सारथी ऐप

उत्तर प्रदेश की सरकार ने 24 जनवरी, 2021 को यूपी उद्यम सारथी मोबाइल एप्लीकेशन को लॉन्च किया है । मोबाइल एप्लीकेशन का प्रयोग राज्य के नागरिक रोजगार प्राप्ति के संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं । इस एप्लीकेशन पर स्वरोजगार और रोजगार से जुड़ी सभी जानकारियां उपलब्ध रहेगी ।

InstaFX App

आईसीआईसीआई बैंक ने अपने ग्राहकों को “आईसीआईसीआई बैंक फॉरेक्स प्रीपेड कार्ड ” तेजी से प्राप्त करने में मदद करने के लिए अधिकृत मनी चेंजर्स के लिए एक नया मोबाइल एप्लीकेशन “InstaFX” शुरू करने की घोषणा की है ।

इनोवेशन सैंडबॉक्स

जनवरी, 2021 में बम्बई स्टॉक एक्सचेंज (CBSE) ने एक “इनेवेशन सैंडबॉक्स” वेब पोर्टल लॉन्च किया है, जो फिनटेक फर्मो एवं व्यक्तियों को अपने अनुप्रयोगों का ऑफलाइन परीक्षण करने में सक्षम बनाता है । इस पोर्टल से आवेदक एप्लीकेशन प्रोग्रामिंग इंटरफेस स्टॉक एक्सचेंजों के परीक्षण डाटा, डिपॉजिटरी और योग्य रजिस्ट्रार तथा शेयर ट्रांसफर एजेंटो आदि का उपयोग करने में सक्षम होंगे ।

श्रमशक्ति पोर्टल

केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्रालय ने प्रवासी श्रमिकों के लिए राज्य और राष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रमों के निर्माण को सुचारू बनाने के लिए एक राष्ट्रीय प्रवासन सहायता पोर्टल “श्रम शक्ति” शुरू किया है । इस पोर्टल की शुरूआत आदिवासी प्रवासी श्रमिकों से संबंधित डाटा एकत्रित करने और उस डाटा को मौजूदा कल्याणकारी योजनाओं से जोड़ने के लिए किया गया है । यह उन प्रवासी श्रमिकों को सशक्त बनाने में मदद करेगा जो रोजगार और आय की तलाश में पलायन करते हैं ।

2021 Portal and App 

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Scroll to Top